Daily Archives: 21/06/2018

डॉक्‍टर का सुसाइड नोट जो निजीकरण के दीवानों को हिलाकर रख देगा बशर्ते कि उनका ज़मीर जिन्‍दा हो

sday, June 20, 2018 एक डॉक्‍टर का सुसाइड नोट जो निजीकरण के दीवानों को हिलाकर रख देगा बशर्ते कि उनका ज़मीर जिन्‍दा हो एक डॉक्‍टर का सुसाइड नोट जो निजीकरण के दीवानों को हिलाकर रख देगा बशर्ते कि उनका ज़मीर जिन्‍दा हो  भारत का मध्यम वर्ग हर चीज का निजीकरण चाहता है। वह चाहता है […]